देश में कोरोना की तीसरी लहर आने का खतरा कम होता दिख रहा है। बीते एक दिन में महज 13,058 नए संक्रमण के मामले मिले हैं, यह आंकड़ा बीते 231 दिनों में सबसे कम हैं। एक तरफ नए केसों में इतनी बड़ी कमी देखने को मिली है तो वहीं बीते 24 घंटों में 19,470 लोगों ने कोरोना संक्रमण को मात दी है। इसके साथ ही एक्टिव केसों का आंकड़ा भी घटते हुए 1,83,118 के स्तर पर आ गया है, जो 227 दिनों में सबसे कम है। कोरोना संक्रमण से देश को लगातार मिल रही राहत से अब यह संभावनाएं भी लगाई जाने लगी हैं कि शायद अब इसकी तीसरी लहर नहीं आएगी। बता दें कि एक्सपर्ट्स ने सितंबर या अक्टूबर के दौरान तीसरी लहर आने की संभावनाएं जताई थीं। 

अब जिस तरह से नए केसों में तेजी से कमी आ रही है और लोग रिकवर हो रहे हैं, उससे अनुमान लग रहा है कि शायद अब कोरोना की देश से छुट्टी ही हो जाए। एक तरफ केसों में कमी देखने को मिल रही है तो वहीं देश में तेजी से चल रहे टीकाकरण ने भी राहत दी है। अब तक देश में 98.67 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं। यही नहीं इस सप्ताह के अंत तक यह आंकड़ा 1 अरब के पार पहुंच सकता है। केंद्र सरकार ने इस साल के अंत तक देश की समूची वयस्क आबादी का टीकाकरण किए जाने का लक्ष्य तय किया है। 

कोरोना का रिकवरी रेट तेजी से बढ़ते हुए 98.14 फीसदी हो गया है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे ज्यादा है। अब तक देश में 3.34 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। प्रतिशत के लिहाज से देखें तो कुल मामलों के मुकाबले एक्टिव केस फिलहाल 0.54% ही हैं। यह बीते डेढ़ सालों का सबसे निचला स्तर है। यही नहीं वीकली पॉजिटिविटी रेट भी तेजी से घटते हुए 1.36 फीसदी ही रह गया है। इसके अलावा डेली पॉजिटिविटी रेट अब 1.11% ही बचा है। यह आंकड़ा बीते 50 दिनों में सबसे कम है।