Husband Kissed her Wife in Ayodhya: अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है. ऐसे में कई श्रद्धालु वहां दर्शन करने के लिए जाते हैं. लेकिन यहां एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है. यहां की सरयू नदी में पति-पत्नी स्नान कर रहे थे. इसी बीच पति ने अपनी पत्नी को खुले में ही किस कर लिया. लेकिन वहां मौजूद लोगों की नजर उन पर चली गई. लोगों ने इस पर आपत्ति जताई और पति की पिटाई कर दी. मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इस वीडियो में नौजवान पति-पत्नी सरयू नदी में लोगों के बीच नहाते हुए दिख रहे हैं. इसी दौरान पति ने पत्नी को किस कर लिया. लेकिन ये किस पति के आफत बनकर टूट पड़ी. उसकी पत्नी ने ये सोचा भी नहीं होगा कि ये किस इतनी भारी पड़ जाएगी कि उसके पति सरेआम पिटाई हो जाएगी. एक के बाद एक युवक पिटाई शुरू करते हैं और चंद सेकंड में ही यह सिलसिला सामूहिक पिटाई में बदल जाता है. सरयू नदी को वाटर पार्क समझना इस नव दंपत्ति के लिए ऐसा सबक बन गया जो वो जिंदगी भर नहीं भूलेंगे.

योगा डे वाले दिन की घटना

ये घटना मंगलवार की है. सरयू नदी के किनारे भी मंगलवार को योग-डे पर योगाभ्यास हुआ. केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव भी कार्यक्रम में शामिल हुए थे. बताया जा रहा है कि मंत्री के जाने के दो घंटे बाद की ये घटना है. देर रात इससे जुड़े दो वीडियो भी सामने आ गए. इसमें नहाते समय पति अपनी पत्नी को किस करता दिख रहा है. दूसरे में उसकी पिटाई की जा रही है.

आसपास परिवार के साथ अन्य लोग नहा रहे थे

आपत्ति जताने वालों का कहना था कि उनके परिवार भी वहीं मौजूद थे, ऐसे में पति-पत्नी का अश्लीलता फैलाना उन्हें सहन नहीं हुआ. लोगों ने आपत्ति जताते हुए कहा कि सार्वजनिक जगहों पर ऐसी अभद्रता नहीं करनी चाहिए. सूचना पर पहुंचे लक्ष्मण घाट चौकी के पुलिसकर्मियों ने मामले में कुछ भी बोलने से मना कर दिया. करीब 30 साल की उम्र के पति को 20 मिनट तक 2-3 लोगों ने पीटा. इससे उसके चेहरे, कंधे और पीठ पर चोटें आई हैं.

पिटाई का तमाशा देखते रहे लोग

करीब 30 साल की उम्र के पति को 20 मिनट तक 2-3 लोगों ने पीटा। इससे उसके चेहरे, कंधे और पीठ पर चोटें आई हैं। इस दौरान पत्नी अपने पति को छुड़ाने के लिए रोती- गिड़गिड़ाती रही, लेकिन उसकी किसी ने भी नहीं सुनी। वहां मौजूद अन्य लोग इस घटना का वीडियो बनाते रहे।

आसपास परिवार के साथ अन्य लोग नहा रहे थे

आपत्ति जताने वालों का कहना था कि उनके परिवार भी वहीं मौजूद थे, ऐसे में पति-पत्नी का अश्लीलता फैलाना उन्हें सहन नहीं हुआ। लोगों ने आपत्ति जताते हुए कहा कि सार्वजनिक जगहों पर ऐसी अभद्रता नहीं करनी चाहिए। सूचना पर पहुंचे लक्ष्मण घाट चौकी के पुलिसकर्मियों ने मामले में कुछ भी बोलने से मना कर दिया।

संतों ने जताई नाराजगी

श्रीरामवल्लभाकुंज के प्रमुख स्वामी राजकुमार दास ने कहा, "सार्वजनिक जगहों पर इस तरह की अभद्रता करना ठीक नहीं है। तीर्थ स्थलों पर धर्म और मर्यादा का पालन करना चाहिए। अगर इस तरह की अभद्रता पब्लिक प्लेस पर होगी तो समाज के लोगों में गलत संदेश जाएगा।

हनुमत निवास के महंत डॉ. मिथिलेश नंदिनी शरण ने कहा, "अयोध्या के सरयू तट और राम की पैड़ी को चौपाटी बनाया जाना उचित नहीं है। यहां पर चूमना गलत है। लोगों ने पिटाई कर अच्छा किया। इसको लेकर जल्द ही आंदोलन चलाया जाएगा। साथ ही ऐसे आचरण को न रोक पाने के दोषी प्रशासन के खिलाफ भी संत मुखर होंगे।"