महोबा में एक दिल दहलाने वाली वारदात हुई है। यहां मां ने धारदार हथियार से अपने तीन बच्चों की हत्या करके फांसी लगा ली है। जानकारी के मुताबिक, कठबरिया मोहल्ला निवासी कल्याण सिंह यादव की पत्नी सोनम (35) अपने पुत्र विशाल (11) और पुत्री आरती (9) व अंजलि (7) के साथ रहती थी। उसका पति से अक्सर विवाद होता रहता था।

शनिवार सुबह तीनों बच्चों के शव बिस्तर पर पड़े मिले। जबकि सोनम का शव संदिग्ध हालात में फांसी पर लटकता मिला। तीनों बच्चों के गले धारदार हथियार से रेते गए थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की। मृतका के बड़े भाई भानसिंह ने पुलिस को बताया कि दिवाली से कल्याण अपनी पत्नी और बच्चों से बात नहीं कर रहा था। वो घर में खाना भी नहीं खा रहा था। इसी बात से परेशान होकर सोनम ने यह कदम उठाया है।

महोबा के कुलपहाड़ के मोहल्ला कठबरिया में एक मां ने अपने तीन बच्चों की धारदार हथियार से हत्या कर दी। बाद में मां ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर एसपी, सीओ और कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मां और उसके तीनों बच्चों के शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरु कर दी है।

ससुराल के लोग महिला पर बच्चों की हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि महिला मानसिक रूप से बीमार रहती थी। महिला का पति जब खेत पर गया था, तब उसने घटना को अंजाम दिया। ससुराल के लोग मौके पर मौजूद हैं।

वहीं सोनम के भाई सूरज का आरोप है कि कई दिनों से उसकी बहन और उसके पति कल्याण सिंह के बीच विवाद चल रहा था। उसका कहना है कि यहां कोई अनहोनी हुई है। वह पूरे मामले में निष्पक्ष जांच की मांग कर रहा है।

पति से रहता था विवाद

कठबरिया मोहल्ला निवासी कल्याण सिंह यादव की पत्नी सोनम (35) अपने पुत्र विशाल (11) और पुत्री आरती (9) व अंजलि (7) के साथ रहती थी। उसका उसके पति से अक्सर विवाद होता रहता था। दिवाली पर भी किसी बात को लेकर पत्नी सोनम का अपने पति से विवाद हो गया था। बाद में घर वालों के समझाने पर झगड़ा खत्म किया गया था। बताया जा रहा है कि कल्याण सिंह किसी दूसरे गांव में भी कभी-कभी रहने चला जाता था। इस बात से सोनम नाराज रहती थी।



बच्चों के गले पर हैं चोट के निशान

शनिवार की सुबह तीनों बच्चों के शव बिस्तर पर पड़े मिले। सोनम का शव संदिग्ध हालात में फांसी पर लटकता मिला। तीनों बच्चों के गले धारदार हथियार से रेते गए थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन की। मृतका के बड़े भाई भानसिंह ने पुलिस को बताया कि दिवाली से कल्याण अपनी पत्नी और बच्चों से बात नहीं कर रहा था। वो घर में खाना भी नहीं खा रहा था।

महिला का भाई पति को गया था समझाने

सोनम की शादी साल 2008 में थी। दो दिन पहले दो दिसंबर को वो अपनी पत्नी पुष्पा के साथ अपने बहनोई कल्याण को समझाने आए थे। लेकिन वह नहीं माने। सूचना पर पहुंची एसपी सुधा सिंह ने बताया कि तीन बच्चों के साथ महिला घर में मृत पाई गई है। तीनों बच्चों के शरीर में घाव हैं। गले में रस्सी बंधी हुई है। सूचना मिलते ही मृतका के मायका पक्ष भी