लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़क सुरक्षा के नियमों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में व्यापक जनजागरूकता सृजित करने के उद्देश्य से 21 जनवरी से 20 फरवरी तक एक माह का यह अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण अभियान अवधि के लिए कार्य योजना बनाकर प्रत्येक दिन तथा हर हफ्ते आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का निर्धारण किया जाए। सड़क सुरक्षा माह की सभी गतिविधियों को अन्तर्विभागीय समन्वय से संचालित किया जाए। अभियान के शुभारम्भ सम्बन्धी कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए। मुख्यमंत्री बुधवार को यहां आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में भारत सरकार को उपयोगिता प्रमाण-पत्र समय से प्रेषित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि उपयोगिता प्रमाण-पत्र को समय पर उपलब्ध कराने से सम्बन्धित योजना के आगामी चरण हेतु केन्द्रांश की धनराशि भारत सरकार द्वारा समय से अवमुक्त की जाएगी। इससे प्रदेश में योजनाओं को तेज गति से पूरा करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष 2021-22 का आम बजट तैयार किया जा रहा है। इसके दृष्टिगत प्रदेश सरकार के सभी सम्बन्धित विभाग अपने-अपने प्रस्ताव केन्द्र को शीघ्र प्रेषित कर दें।  मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष समापन की ओर है। इसे ध्यान में रखकर सभी विभाग बजट धनराशि के व्यय की स्थिति की समीक्षा करते हुए आवंटित धनराशि का सदुपयोग सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को आगामी तीन दिन में विभागीय बजट के सम्बन्ध मंे पूर्ण विवरण मुख्यमंत्री कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।