उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के एल ब्लॉक चौकी पर स्कूटी चेकिंग को लेकर बवाल हो गया। विरोध में जाकिर कॉलोनी के सैकड़ों लोगों ने चौकी इंचार्ज की मौजूदगी में चौकी में जमकर तोड़फोड़ की। इस दौरान खुद की जान बचाने के लिए चौकी इंचार्ज ने भीड़ पर पिस्टल तान दी, जिसके बाद भीड़ ने चौकी पर पथराव शुरू कर दिया। पथराव में दारोग और सिपाही जख्मी हो गए हैं। इसके बाद कई थानों की पुलिस बुलाकर भीड़ पर लाठीचार्ज करना पड़ा। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर स्कूटी सवार समेत चार लोगों को हिरासत में लिया है।


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, नौचंदी थाने की एल ब्लॉक चौकी इंचार्ज मुनीश शर्मा सोमवार शाम भी चेकिंग कर रहे थे। तभी जाकिर कालोनी इकबाल नगर का स्कूटी सवार महबूब बेटी की शादी के वलीमा में जा रहा था। इसी दौरान पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया। पुलिस के इशारा करने के बाद भी महबूब ने स्कूटी नहीं रोकी। जिसके बाद सिपाही संजीद ने पीछाकर स्कूटी पकड़ ली, लेकिन महबूब स्कूटी छोड़कर भाग गया। ऐसे में पुलिस ने स्कूटी चौकी में कर दी। इसके बीस मिनट बाद महबूब भीड़ के साथ एल ब्लॉक चौकी पहुंचा और स्कूटी उठाने की कोशिश करने लगा। इस दौरान पुलिस ने महबूब से स्कूटी के डॉक्यूमेंट्स लाने को कहा। इस बात पर भीड़ भड़क गई और चौकी इंचार्ज के सामने ही कुर्सी और हीटर तोड़ दिए। बचाव के लिए चौकी इंचार्ज मुनीश शर्मा ने पिस्टल भीड़ पर तान दी।


इसके बाद भीड़ ने पथराव कर दारोगा और सिपाही से हाथापाई शुरू कर दी। चौकी पर तैनात स्टाफ ने वायरलेस से कंट्रोल रूम को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद लिसाड़ी गेट, नौचंदी, मेडिकल और खरखौदा थाने से पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ना शुरू कर दिया। वहीं, महबूब, उसके बाई ताहिर और खालिद समेत चार लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। चौकी प्रभारी ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।