उत्तर प्रदेश में यूपी पुलिस हमेशा से ही जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करती है. पिछली बार की तरह योगी सरकार के इस कार्यकाल के शुरू होने से पहले ही अपराधियों की शामत आई हुई है. इस वक्त अपराधियों के पास दो ही ऑप्शन हैं, या तो वो प्रदेश छोड़ दें या खुद ही आत्मसमर्पण कर लें. ऐसे में अब शामली में एसएसपी सुर्कीति माधव के कार्यकाल में भी अपराधी खौफ में हैं. दरअसल, शामली पुलिस के सामने जिन 18 अपराधियों ने आत्मसमर्पण किया है उसमें कई गैंगस्टर और गौ तस्कर शामिल हैं. इन बदमाशों ने पुलिस के सामने जीवन में कभी अपराध नहीं करने की कसम भी खाई है.

इन्होने किया सरेंडर

जानकारी के मुताबिक, योगी सरकार के नए कार्यकाल की शुरूआत से पहले ही बदमाशों ने सरेंडर करना शुरू कर दिया है. जिसके क्रम में अब शामली में 18 शातिर बदमाशों ने आत्मसमर्पण किया है. दरअसल थानाभवन थाना क्षेत्र के गांव भैसानी इस्लामपुर व मसावी के 7-7, लुहारी के 4 आरोपी एक साथ थाने पहुंचे. इन बदमाशों ने पुलिस के सामने जीवन में कभी अपराध नहीं करने की कसम भी खाई है. ये सभी अपराधी अपना हाथ उठाकर थाने पहुंचे और एसएचओ के सामने पेश होकर खुद को सरेंडर कर दिया.

थाने में सरेंडर करने पहुंचे अपराधियों में सनव्वर, मंजूर हसन, उम्मेद, मशरुफ, अकबर, सलीम, नौशाद, ताहिर, सुहेब, गुलबहार, मुस्तकीम, मेहराब, नौशाद, सलीम, इन्तजार, शहजाद, अब्दुलगनी और नौशाद शामिल हैं.ये सभी अपराधी थानाभवन क्षेत्र के भैसानी और मसावी गांव के रहने वाले हैं. फिलहाल पुलिस ने सभी अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

SHO ने दी जानकारी

थानाभवन थाना प्रभारी प्रेमवीर राणा ने बताया कि थाने के हिस्ट्रीशीटर आदि अपराधियों की निगरानी रखी जाती है. अब जब वार्षिक निगरानी शुरू की गई है तो कुछ हिस्ट्रीशीटर अपने आप लाइन लगाकर थाने पहुंच रहे हैं.

रिपोर्ट - संतोष मिश्र