बहराइच। प्रमुख सचिव, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, उत्तर प्रदेश की अध्यक्षता में वर्चुअल माध्यम से आयोजित ‘‘पोषण पाठशाला’’ में विषय विशेषज्ञों द्वारा गर्भवती महिलाओं की देखभाल एवं पोषण तथा धात्री महिलाओं एवं बच्चों के स्तनपान व पोषण के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी तथा गर्भवती व धात्री महिलाओं की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया। जिले के ऑगनबाड़ी केन्द्रों पर आशा, आशा संगिनी, मुख्य सेविका, ऑगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहित गर्भवती व धात्री महिलाओं द्वारा वेब लिंक के माध्यम से पोषण पाठशाला में प्रतिभाग किया गया। इस अवसर पर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित जिला सूचना विज्ञान केन्द्र में ‘‘पोषण पाठशाला’’ के सजीव प्रसारण में जिला कार्यक्रम अधिकारी जी.डी. यादव, बाल विकास परियोजना अधिकारी, आशा, आशा संगिनी, मुख्य सेविका, ऑगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहित नगर क्षेत्र की गर्भवती व धात्री महिलाओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। यहॉ पर नगर क्षेत्र की गर्भवती महिला मंजूसा द्वारा नवजात शिशु को प्रथम स्तनपान कराये जाने से सम्बन्ध में पूछे गये प्रश्न का विशेषज्ञों द्वारा समाधान किया गया।

(नवाबगंज के केंद्रों पर भी मनाई गई पोषण पाठशाला)

विकासखंड नवाबगंज के विभिन्न आंगनबाड़ी व मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों पर भी पोषण पाठशाला का आयोजन किया गया। बाल विकास परियोजना अधिकारी जिया श्याम जी के नेतृत्व व दिशा निर्देशन में समस्त केंद्रों पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं क्षेत्रीय पर्यवेक्षिकाओं की उपस्थिति में पोषण पाठशाला मनाई गई। मिनी आंगनवाड़ी केंद्र मिर्जापुर तिलक में ऑगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहित गर्भवती व धात्री महिलाओं द्वारा वेब लिंक के माध्यम से पोषण पाठशाला में प्रतिभाग किया गया। आकर्षक रंगोली सजाई गई एवं प्रथम स्तनपान के बारे में जानकारी दी गई। इस मौके पर मुख्य सेविका दयावंती, कार्यकत्री सीमा देवी, अंजू श्रीवास्तव, सुमन देवी, गीता देवी, गायत्री देवी सहित कई कार्यकत्री व गर्भवती, धात्री महिलाएं मौजूद रहीं।

रिपोर्ट - संतोष मिश्र