उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जनपद की पुलिस लाइन में सिपाही आकाश ने बुधवार की शाम कार्बाइन से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। आनन-फानन में घायल सिपाही को एसआरएन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। फिलहाल, आत्महत्या की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Also Read : गरीब परिवार की बेटियों की शादी के लिए 51 हजार रुपए देगी योगी सरकार, ऐसे उठा सकते हैं इस योजना का लाभ

जानकारी के अनुसार मथुरा जनपद में बलदेव थाना क्षेत्र स्थित अरतौनी गांव निवासी धान सिंह का बेटा आकाश कुमार 2019 बैच का सिपाही था। उसकी तैनाती उतरांव थाने में थी। गैरहाजिर होने के कारण उसे 24 जून 2022 को पुलिस लाइन भेज दिया गया था। यहां आमद कराने के बाद उसकी अलग-अलग स्थानों पर सुरक्षा में ड्यूटी लग रही थी। पुलिस लाइन के बैरक नंबर सात में अकेले रहता था।

Also Read : सरकारी आवास में खून से लथपथ मिला था पत्नी का शव, इंस्पेक्टर सहित 6 पर हत्या का केस दर्ज, इंस्पेक्टर भी गिरफ्तार

एक जुलाई को भी कारबाइन देकर उसकी ड्यूटी गनर में लगाई गई, लेकिन वह गैरहाजिर हो गया। बुधवार शाम करीब पांच बजे आकाश पुलिस लाइन पहुंचा और आमद नहीं करवाया। कुछ देर बाद वह पेट्रोल पंप के आगे एएसपी के आवास के पीछे स्थित पेड़ के नीचे जाकर बैठ गया। तभी गोली की आवाज सुन आसपास मौजूद पुलिसकर्मी पहुंचे तो उसे खून से लथपथ देख हैरान रह गए।

Also Read : गोण्डा: पुलिस मुठभेड़ में 25 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार, पैर में लगी गोली

इसके बाद आनन-फानन घायल सिपाही को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह, एसपी प्रोटोकाल, सीओ लाइन, आरआइ समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और छानबीन की। फोरेंसिक टीम ने भी कार्बाइन को कब्जे में लेकर साक्ष्य जुटाए।

अफसरों का कहना है सिपाही ने कनपटी पर सटाकर गोली मारी थी। एक साथ तीन गोली चलने की बात सामने आई है। एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय का कहना है कि घटना की वजह स्पष्ट नहीं है, जांच कराई जा रही है।

Also Read : दिल्ली में शराब के शौकीनों को डबल झटका जेब पर बढ़ा बोझ