नई दिल्ली | भारत में 16 जनवरी से शुरू कोरोना टीकाकरण के बाद अब तक 600 लोगों को बीमार होने की जानकारी मिली है, जो कि दुनिया के बाकी देशों की तुलना में सबसे कम है। इनमें से 82 लोग बुधवार को बीमार हुए। अभी तक 6 राज्यों में कोरोना टीकाकरण के बाद दिखे लक्षणों की वजह से 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जिनमें से 7 को छुट्टी भी दे दी गई है।

दिल्ली में कोरोना टीका लेने वाले कुल 4 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जिनमें से एक स्वास्थ्यकर्मी को शाहदरा के राजीव गांधी अस्पताल में ऑब्जरवेशन में रखा गया है। 

कर्नाटक में भी टीकाकरण के बाद बीमार होने के दो मामले आए, जिनमें से एक को चित्रादुर्गा के जिला अस्पताल में ऑब्जरवेशन में रखा गया है। इसके अलावा उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पश्चिम बंगाल सभी राज्यों में टीका लगवाने के बाद एक-एक व्यक्ति को अस्पताल में रखा गया है।

उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के मरीजों को जहां डिस्चार्ज कर दिया गया है वहीं पश्चिम बंगाल के केस को अभी भी मुर्शीदाबाद के जनगीपुरा में सब-डिविजनल अस्पताल में ऑब्जरवेशन में रखा गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी ने बताया, 'टीकाकरण से अभी तक साइड इफेक्ट का कोई  गंभीर मामला सामने नहीं आया है।'

बता दें कि भारत में अभी तक 7 लाख 86 हजार 842 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना का टीका दिया जा चुका है। इनमें से 1 लाख 12 हजार 7 लाभार्थियों को बुधवार शाम 6 बजे तक वैक्सीन दी गई थी।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद कुल 4 स्वास्थ्यकर्मियों की मौत हो चुकी है। अगनानी ने बताया कि इन 4 में से 3 मौतों का कोरोना वैक्सीन से संबंध नहीं है।