पटना।  बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार की उल्टी गिनती शुरू है। एक-दो दिनों में कभी भी मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही कह चुके हैं कि मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा। मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा के बीच संभावित मंत्रियों के नाम भी फिजां में तैर रहे हैं। इनमें सबसे ऊपर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और विधान परिषद सदस्य बनने जा रहे सैयद शाहनवाज हुसैन का नाम है। भाजपा कोटे से इनका मंत्री बनना तय माना जा रहा है। इन्हें कोई अहम विभाग मिलने की भी चर्चा है। वहीं जदयू में भी कुछ संभावित मंत्रियों के नाम फिजां में तैर रहे हैं।
गौरतलब है कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद डॉ. संजय जायसवाल और संगठन महामंत्री नागेन्द्र दिल्ली गए थे। बुधवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पटना लौट आए तो उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद बुधवार को राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। सूत्रों के अनुसार गुरुवार को भाजपा कोटे से मंत्री बनने वालों के नाम तय हो जाएंगे।  जदयू और भाजपा, दोनों ही खेमे में संभावित मंत्रियों में कुछ नए तो कुछ पुराने चेहरों के नाम सामने आ रहे हैं। 
जदयू कोटे से जिनके मंत्री बनने की चर्चा है, उनमें श्रवण कुमार, सुधांशु शेखर, महेश्वर हजारी, मदन सहनी, बीमा भारती, दामोदर रावत, सुनील कुमार, लेसी सिंह, शालिनी मिश्रा, सुमित कुमार, नीरज कुमार, महेश्वर हजारी, दामोदर रावत के नाम सामने आ रहे हैं। जबकि भाजपा कोटे से संभावित मंत्रियों में सैयद शाहनवाज के अलावा संजीव चौरसिया, नितिन नवीन, राणा रणधीर सिंह, प्रमोद कुमार, भागीरथी देवी, नीतीश मिश्रा, रामप्रवेश राय आदि के नाम चर्चा में हैं।
हालांकि इस बीच जदयू और भाजपा के बीच मंत्रियों की संख्या तय होने को लेकर अटकलों का दौर जारी है। भाजपा सूत्रों की मानें तो मंत्रिमंडल में भाजपा के हिस्से में 22 तो जदयू को 14 मंत्री पद मिले हैं। हम और वीआईपी को क्रमश: जदयू और भाजपा अपने-अपने कोटे से मंत्रीपद देंगे। अभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छोड़कर 13 मंत्री हैं। इनमें जदयू से चार, भाजपा कोटे से सात जबकि हम व वीआईपी कोटे से एक-एक मंत्री शामिल हैं। वहीं एक चर्चा यह भी है कि मंत्रिमंडल में जदयू को 16, भाजपा को 18 और हम व वीआईपी के हिस्से में एक-एक मंत्री होंगे। हालांकि मंत्रिमंडल विस्तार होने तक संख्या को लेकर कयासों का दौर जारी रहेगा।