राजस्थान के उदयपुर में 8 साल के बेटे द्वारा नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डालने पर पिता कन्हैयालाल की तालिबानी स्टाइल में हत्या कर दी गई है. वहीं इस मामले में सबसे हैरान करने वाला यह रहा कि आरोपी मोहम्मद रियाज ने 17 जून को ही कन्हैयालाल को मारने की धमकी दी थी, जिससे डरकर कन्हैयालाल ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार भी लगाई थी. लेकिन पुलिस ने नजरअंदाज कर दिया. अब इसे लेकर कांग्रेस सरकार पर सवाल उठ रहे हैं. देवरिया से भाजपा विधायक डॉ शलभ मणि त्रिपाठी ने पुलिस की लापरवाही को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा है.

Also Read: Udaipur Murder: आज जंतर-मंतर पर होगा आतंक के नाश का संकल्प, कपिल मिश्रा बोले- कन्हैयालाल के परिवार की उठाएंगे जिम्मेदारी, देंगे 1 करोड़ की सहायता राशि

डॉ शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर लिखा,“श्रीमान राहुल गांधी जी तो आप और आपकी सरकार ने पूरी छूट दी इस दरिंदे को,गरीब हिंदू कन्हैयालाल जी का कत्ल करने की,वो वीडियो बनाता रहा,खुलेआम धमकाता रहा और आपकी सरकार इसे पकड़ने की बजाए कन्हैयालाल जी को छुपकर जान बचाने की सलाह देते रहे, आख़िर हिंदुओं से किस बात का बदला ले रहे आप लोग.”

डॉ शलभ मणि त्रिपाठी यहीं नहीं रूके उन्होंने एक और ट्वीट कर लिखा, “वाह रे कांग्रेस सरकार, कत्ल की मिल रही धमकियों के बीच उल्टे गरीब कन्हैया लाल के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर दिया, कन्हैया लाल को ही गिरफ़्तार भी कर लिया, कन्हैया लाल की दुकान बंद करा दी, सुरक्षा नहीं दी, और फिर गरीब कन्हैया लाल को मरवा भी दिया, ये महापाप बहुत भारी पड़ेगा राहुल गांधी जी.”

Also Read: कन्हैया लाल हत्याकांड के बाद UP में हाई अलर्ट, DGP मुख्यालय ने जारी किए निर्देश

बेटे ने गलती से भेजा था पोस्ट

कन्हैयालाल के परिजनों का कहना है कि यह पोस्ट गलती से कन्हैया के 8 साल के मासूम बच्चे ने अनजाने में कुछ वॉट्सऐप ग्रुप में भेज दिया था. यह पोस्ट कुछ कट्टरपंथियों ने देखा तो वह कन्हैयालाल के दुश्मन बन गए. आरोपी रियाज ने 17 जून को ही एक वीडियो जारी करके कन्हैया को मारने की धमकी दी थी. बताया जा रहा है कि कन्हैयालाल ने पुलिस से शिकायत भी की थी.

Also Read: उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की निर्मम हत्या आतंकवादी वारदात, इस घटना से पूरा देश स्तब्ध, सबको होना पड़ेगा मुखर: राजा भैया

17 जून को ही दी थी धमकी

हैरान करने वाली बात यह भी है कि आरोपी मोहम्मद रियाज ने 17 जून को ही कन्हैयालाल को मारने की धमकी दी थी. यह वीडियो उदयपुर में सोशल मीडिया और वॉट्सऐप ग्रुप्स में वायरल था. बताया जा रहा है कि इस धमकी से डरकर कन्हैयालाल ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार भी लगाई थी. वह 6 दिन से दुकान भी नहीं खोल रहा था. मंगलवार को ही उसने दुकान खोली और आरोपियों ने ऐलान के मुताबिक उसका सिर तन से जुदा कर दिया.

धोखे से कन्हैयालाल का गला रेत डाला

मंगलवार दोपहर बाद आरोपी कपड़ा सिलवाने के बहाने से कन्हैयालाल की दुकान में घुसे थे. एक आरोपी वीडियो बनाता रहा, जबकि दूसरा अपना नाप देने लगा. कन्हैया नाप लेने में व्यस्त हो गया. फिर अचानक से आरोपियों ने उसपर हमला कर दिया. कन्हैया चीखता हुआ भागने की कोशिश करने लगा लेकिन दुकान के बाहर निकलते ही आरोपियों ने उसे दबोच लिया और गर्दन हलाल कर दिया. खून से लथपथ कन्हैया ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. इस मामले में पुलिस ने दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज और गोस मोहम्मद को राजसमंद के भीम इलाके से गिरफ्तार कर लिया है.

Also Read: Udaipur Murder: कन्हैयालाल के हत्यारे मोहम्मद गौस औऱ रियाज अंसारी गिरफ्तार, 17 जून को ही कर दिया था कत्ल का ऐलान, गहलोत की पुलिस पर उठे सवाल