नेपालगंज बहराइच मार्ग (Nepalganj Bahraich Road) पर बुधवार को हुए सड़क हादसे में घायलों को गोद में लेकर पुलिस(Police) ने अस्पताल पहुंचाया। दरअसल, हादसे की सूचना के बाद भी एंबुलेंस नहीं पहुंची, जिसके बाद पुलिस(Police) ने अपने वाहन से ही घायलों को नजदीकी अस्पताल पहुंचाया गया। पुलिस(Police) की इस कार्य की लोग सराहना कर रहे हैं।


➤ बहराइच पुलिस ने जीता दिल

ऐसा ही मामला बुधवार को प्रदेश के बहराइच जिले (Bahraich District) के रूपईडीहा थाना क्षेत्र (Rupidaha police station area) में देखने को मिला। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय राजमार्ग के भारत नेपाल हाइवे पर बुधवार को रूपईडीहा थाना क्षेत्र (Rupidaha police station area) के कलवारी गांव में सड़क हादसा हो गया। जहां एक अनियंत्रित कार के पेड़ से टकराने पर दंपती की मौत हो गई। जबकि मासूम समेत 4 लोग घायल हो गए। सूचना पाकर रूपईडीहा थाने (Rupidaha police station area) की पुलिस पहुंच गई।


➤ पुलिस ने जीप से ही पहुंचाया CHC

थाने के उप निरीक्षक ने हादसे की सूचना 108 एंबुलेंस को सूचना दी, लेकिन 10 मिनट तक एंबुलेंस नहीं पहुंची। ऐसे में एंबुलेंस का इंतजार न कर उप निरीक्षक रुदल बहादुर सिंह (Sub Inspector Rudal Bahadur Singh) अन्य पुलिस कर्मियों के साथ घायलों को गोद में लेकर वाहन तक पहुंचे। सभी ने घायलों को पुलिस जीप से ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चरदा (Community Health Center Charda) पहुंचाया। पुलिस की मेहनत से कई घायलों की जान बच सकी।

➤ हादसे वाली जगह से थाना 12 किलोमीटर दूर

ग्रामीणों के मुताबिक जहां हादसा हुआ। वहां से थाने की दूरी 12 किलोमीटर है। इसके बावजूद पुलिस(Police) त्वरित समय पर पहुंच गई, जिससे कई लोगों की जान बच सकी। जिसमें बच्चे भी शामिल हैं। हादसे में घायल लोगों को पुलिस जीप से अस्पताल पहुंचाया गया। पुलिस की इस कार्य की क्षेत्र के लोग सराहना कर रहे हैं।

रिपोर्ट - संतोष मिश्र