आए दिन यूपी से पुलिस पर हो रहे हमलों की खबरें सामने आ रही है। जहां पुलिस किसी मामले को सुलझाने घटना स्थल पर जाती है, तो वहां के लोग ही पुलिस पर हमला कर देते हैं। ऐसा ही एक मामला यूपी के कन्नोज से है। जहां गुरसहायगंज में एक ज़मीन पर कब्जे को लेकर विवाद की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर एक पक्ष ने हमला कर दिया। महिलाओं और पुरुषों ने हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल के साथ मारपीट कर दी। पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर एक को गिरफ्तार कर लिया। 

पूरा मामला

आपको बता दें कि कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खिवराजपुरवा निवासी वीरेंद्र सिंह यादव और जितेंद्र वर्मा के बीच ज़मीन पर कब्जे को लेकर छह साल से विवाद चल रहा है। यह मुकदमा एसडीएम न्यायालय छिबरामऊ में लंबित है। इसी को लेकर बुधवार दोपहर वीरेंद्र सिंह यादव ने विवादित ज़मीन पर निर्माण शुरू कर दिया। जितेंद्र ने इसका विरोध किया। जिसके बाद इस मामले को लेकर विवाद होने लगा। इस मामले की सूचना पुलिस को दी गई। इससे मझपुर्वा चौकी पर तैनात मुख्य आरक्षी कमलेश कुमार और सिपाही ओमवीर मौके पर पहुंचे। इन्होंने झगड़ा कर रहे लोगों को रोकने की कोशिश की। इसी दौरान वीरेंद्र यादव के पक्ष ने मुख्य आरक्षी और सिपाही से मारपीट शुरू कर दी। इन्होंने किसी तरह बचकर कोतवाली में सूचना दी। इस पर अतिरिक्त पुलिस बल ने मौके पर पहुंचकर लोगों को हटाया।

मारपीट का वीडियो वायरल

आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले में अखिलेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरक्षी कमलेश कुमार ने वीरेंद्र यादव, अखिलेश यादव, सुमित सिंह और अंजलि पत्नी विनोद के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा और पुलिस मुज़हमत की रिपोर्ट दर्ज कराई है। कोतवाल राजा दिनेश सिंह ने बताया कि पुलिस टीम के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस के साथ मारपीट का एक वीडियो भी वायरल हुआ है। वायरल हो रही वीडियो में महिलाएं मारपीट करती दिख रही हैं।