Bihar News: बिहार के कटिहार (Katihar) में दो स्कूली छात्रों के बैंक अकाउंट में 960 करोड़ रुपये आने की खबर फैलने से लोग अचंभे में पड़ गए. इतनी बड़ी धनराशि अकाउंट (Bank Account) में आने की खबर से छात्रों के साथ बैंक अधिकारी भी हैरान हो गए. वहीं इस बात का पता जब दूसरे लोगों को चला तो उन्होंने भी अपने अकाउंट चेक करने शुरू कर दिए. इसके चलते बैंक (Bank) में लोगों की लाइन लग गई. हालांकि, बैंक की ओर अब इस खबर को फर्जी बताया गया है. आइए जानते हैं पूरा मामला.. 



दरअसल, पहले ये खबर आई थी कि बिहार सरकार द्वारा स्कूल ड्रेस के लिए भेजे जाने वाले पैसों की जानकारी के लिए आजमनगर थाना क्षेत्र के पस्तिया गांव के दो स्कूली छात्र एसबीआई (SBI) के सीएसबी सेंटर पहुंचे. इन दोनों ने जब अपने अकाउंट की जानकारी ली तो पता चला कि इनके खाते में करोड़ों रुपये जमा हैं. 



अकाउंट में 900 करोड़ से ज्यादा आने की खबर पर बैंक का बयान 

दोनों के बैंक अकाउंट में 960 करोड़ की राशि आने की खबर फैल गई. बताया गया कि छात्र गुरुचन्द्र के अकाउंट में 60 करोड़ से अधिक और असित कुमार के अकाउंट में 900 करोड़ से ज्यादा की राशि जमा थी. लेकिन अब बैंक ने इसकी सच्चाई बताई है.



भेलागंज ब्रांच के कर्मचारी सनत झा ने बताया कि जब हमने दोनों अकाउंट की जांच की तो पाया कि एक खाता यहां था ही नहीं. जबकि असित कुमार के नाम के अकाउंट में महज 100 रुपये मिले. हालांकि, दूसरे अकाउंट (गुरुचन्द्र वाले) की भी जांच की गई तो उसमें 128 रुपये बैलेंस पाया गया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सीएसबी सेंटर से अगर दिख रहा है तो यह टेक्निकल एरर हो सकता है.

खगड़िया से भी आया था ऐसा मामला

गौरतलब है कि इससे पहले खगड़िया (Khagaria) में एक शख्स के खाते में गलती से 5.50 लाख रुपए आ गए थे. इस शख्स ने इसे मोदी सरकार (PM Modi) से मिली सहायता समझकर खर्च भी कर दिया. जब बैंक अधिकारियों को अपनी गलती का अहसास हुआ, तो उन्होंने शख्स से पैसे लौटाने को कहा. लेकिन शख्स ने पैसे लौटाने से इनकार कर दिया. जिसके बाद बैंक अधिकारियों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने शख्स को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.