पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के क्रम में समस्त थाना/ चौकी/बीट प्रभारियों द्वारा पंचायत चुनाव के दृष्टिगत गांवो में जाकर चौपाल लगाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं। सभी आमजन को शांति-प्रिय तरीके से आपस में मिलजुल कर रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है तथा किसी अफवाह में न पड़ने व एक दूसरे से घृणा न करने हेतु हिदायत दी जा रही है।

पंचायत चुनाव की बयार गांवों में बहनी शुरू हो गई है। मौजूदा प्रधान के साथ ही भावी प्रत्याशी भी अपना जोर दिखाकर लोगों को लुभाने में जुट गए हैं। ऐसे में कई बार माहौल बिगड़ने की संभावना बनी रहती है। गांवों में शांति बनी रहे, इसके लिए अब पुलिस ने नई पहल शुरू की है। गांवों में चौपाल लगाकर पुलिसकर्मी न सिर्फ ग्रामीणों की समस्याएं सुनते हैं, बल्कि उन्हें नियम-कानून का ककहरा भी सिखाते हैं। इससे ग्रामीणों में खाकी का इकबाल भी बुलंद हो रहा है।पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के क्रम में समस्त थाना/ चौकी/बीट प्रभारियों द्वारा पंचायत चुनाव के दृष्टिगत गांवो में जाकर चौपाल लगाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।

सभी आमजन को शांति-प्रिय तरीके से आपस में मिलजुल कर रहने के लिए प्रेरित किया जा रहा है तथा किसी अफवाह में न पड़ने व एक दूसरे से घृणा न करने हेतु हिदायत दी जा रही है।

पंचायत चुनाव का बिगुल बजने के बाद से गांवों में तनाव की स्थिति को रोकने के लिए पुलिस नए अंदाज में नजर आ रही है। वह मित्र के रूप में गांव-गांव जाकर लोगों की परेशानी से रूबरू होती है। चौपाल लगाकर समस्याएं सुनने के साथ ही पुलिस सहायता नंबरों की जानकारी देती है। गांव में पुलिस की मौजूदगी से अराजक तत्वों के हौसले पस्त होते हैं, वहीं आमजन खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।